मैनेज & नॉन मैनेज Hosting कौन सी लेनी चाहिए

नमस्कार दोस्तों आपका इस आर्टिकल में स्वागत है और इस आर्टिकल में हम आपको hosting के बारे में बताने वाले हैं आपको hosting के बारे में तो कंप्लीट जानकारी होगी कि होस्टिंग क्या होती है और होस्टिंग कितने प्रकार की होती है दोस्तों आज इस लेख में हम आपको यह नहीं बताएंगे हम बस सिर्फ आपको इस लेख में इतना ही बताएंगे कि आपके लिए सबसे कौन सी hosting अच्छी है क्योंकि अगर आपको एक वेबसाइट बनानी है तो आपको कौन सी होस्टिंग लेनी चाहिए 

अगर आप तीन से चार वेबसाइट बनाना चाहते हैं तो आपको कौन सी होस्टिंग लेनी चाहिए या अगर आप कोई ई-कॉमर्स वेबसाइट बनाना चाहते हैं तो फिर आपको कौन सी hosting लेनी चाहिए या आप कोई न्यूज़ वेबसाइट बनाना चाहती हैं तो फिर आपको कौन सी होस्टिंग लेनी चाहिए आज इस आर्टिकल में आपको हम इसी जानकारी को प्रोवाइड करने वाले हैं क्योंकि ऐसे कई लोग हैं

जोकि नहीं है और उन लोगों को कोई भी जानकारी नहीं है कि कौन सी होस्टिंग लेनी चाहिए इसलिए हम इस लेख में आपको ऐसी जानकारी प्रोवाइड करने वाले हैं जो कि आपके लिए बहुत ही वैल्यू प्रोवाइड करती है इसलिए इस आर्टिकल को ध्यानपूर्वक पढ़ें और इस आर्टिकल को अपने सभी मित्रों के साथ शेयर करें ताकि आपके मित्रों से भी कभी कोई भी गलती ना हो

  1. Hosting kharidta time kin kin baat ka dhyan rakhe

 

 

 

होस्टिंग कितने प्रकार की होती हैं

दोस्तों होस्टिंग मुक्ता दो प्रकार की होती है मैनेज और नॉन मैनेज इंडिया में मैनेज कंपनी बहुत है जो कि आपकी होस्टिंग को मैनेज करती हैं और आपको होस्टिंग के साथ-साथ सीपैनल प्रोवाइड करती हैं इस तरीके की होस्टिंग को मैनेज होस्टिंग कहते हैं और नॉन मैनेज होस्टिंग मैं आपको अमेजॉन गूगल क्लाउड और डिजिटल ओशन जैसी कंपनी आपको नॉन मैनेज होस्टिंग प्रोवाइडर करती हैं जो कि क्लाउड होस्टिंग होती है काफी कम रुपए में आपको प्रोवाइड हो जाती है वही मैनेज हो स्टिंग के लिए आपको अधिक रुपए खर्च करना पड़ता है

1) मैनेज होस्टिंग के फायदे

दोस्तों अगर कोडिंग नहीं आती है और आप वेबसाइट बनाना चाहते हैं तो पहले काफी लोगों को समस्या होती थी लेकिन जब से वर्डप्रेस एप्लीकेशन आया है तब से लोगों को वेबसाइट बनाने में कोई भी समस्या नहीं होती है और अगर आपके पास मैनेज होस्टिंग है तो आप लोग सिर्फ एक क्लिक में वर्डप्रेस को इंस्टॉल कर सकते हैं और आपको कोडिंग की कोई भी आवश्यकता नहीं होती है

 क्योंकि manage hosting में आपको एक कंपलीट सीपैनल प्रोवाइड किया जाता है जहां पर अलग-अलग प्रकार के आपको सॉफ्टवेयर प्रोवाइड किए जाते हैं जिससे कि आपका एक्सपीरियंस और भी आसान हो जाता है फिर आपको hosting इस्तेमाल करने में कोई भी समस्या नहीं होती है यह मैनेज होस्टिंग का फायदा होता है वही प्राइस की बात की जाए तो यह प्राइस में काफी महंगी होती हैं और इन पर सीमित ट्राफिक ही आ सकता है यानी कि अगर आप सिंगल वेब होस्टिंग यानी कि लेनेक्स होस्टिंग लेते हैं

 तो आपको बहुत ही कम रुपए पर करने पड़ेंगे लेकिन अगर आप की वेबसाइट पर एक महीने में अधिक ट्राफिक आ जाता है तो आपकी वेबसाइट क्रैश भी हो सकती है लेकिन ऐसा नहीं है कि मैंने होस्टिंग पर आप अपने प्लान को अपग्रेड नहीं कर सकते हैं आप सिंगल प्लेन से क्लाउड होस्टिंग भी हॉस्टल में ले सकते हैं और बस आपको अपना डाटा एक होस्टिंग से दूसरी होस्टिंग में ट्रांसफर करना है

 

2) नॉन मैनेज होस्टिंग

दोस्तों अगर आपको कोडिंग कंप्लीट आती है और अगर आप एक वेबसाइट बनाना चाहते हैं तो आप नॉन मैनेज होस्टिंग के साथ जा सकते हैं नॉन होस्टिंग में आपको किसी भी प्रकार का सीपैनल प्रोवाइड नहीं किया जाता है बस आपको सिर्फ एक क्लाउड स्टोरेज दे दिया जाता है ना ही आपको टीम का सपोर्ट प्रोवाइड होता है आप अपनी सेल्फ नॉलेज के जरिए ही अपनी होस्टिंग को कंप्लीट मैनेज कर पाएंगे

वहीं अगर फायदे की बात की जाए तो इस प्रकार की होस्टिंग काफी शक्ति होती है और इस होस्टिंग में आपको क्लाउड स्टोरेज प्रोवाइड की जाती है यानी कि आप की वेबसाइट पर कितना भी ट्रैफिक आए आपकी वेबसाइट कभी भी डाउन नहीं होगी और आपकी वेबसाइट की स्पीड हमेशा आप ही होगी अगर आपके पास एक कंप्लीट टीम है जो कि आपकी वेबसाइट को मैनेज करती है तो आपको नॉन मैनेज होस्टिंग की तरफ जाना चाहिए

 

१) single web hosting

दोस्तों अगर आप एक नए ब्लॉगर हैं और आपको वेबसाइट के बारे में कोई भी जानकारी नहीं है कि आप को किस प्रकार की वेबसाइट डिजाइन करनी है तो आप सिंगल बेड hosting की तरफ जा सकते हैं इस hosting में आप सिर्फ एक ही वेबसाइट को होस्टिंग में ऐड कर पाएंगे और आपको एसएसएल भी प्रोवाइड किया जाता है वही इस प्रकार की होस्टिंग काफी कम रुपए में आपको प्रोवाइड हो जाएगी और आपको मैनेज होस्टिंग प्रोवाइडर करनी है

२) VPS hosting

दोस्तों इस तरीके की होस्टिंग भी इंडिया में कई वेबसाइट प्रोवाइड करती हैं जो कि काफी महंगी होती है लेकिन इस hosting में वर्चुअल प्राइवेट सर्वर होता है  कि आप की वेबसाइट की पूरी सिक्योरिटी की जाती है और आपको एक पर्टिकुलर स्टोरेज प्रोवाइड किया जाता है जिस पर सिर्फ आपकी वेबसाइट ही रन कर रही होती है और किसी भी दूसरे व्यक्ति की वेबसाइट ऑफ़ स्टोरेज में नहीं होगी इसलिए आप अपनी वेबसाइट पर कितना भी ट्रैफिक में आपको कोई भी समस्या नहीं होगी

 

३) क्लाउड स्टोरेज

दोस्तों क्लाउड होस्टिंग काफी महंगी होती है क्योंकि इस hosting में आपकी वेबसाइट की स्पीड काफी हाई हो जाती है और आप इस तरीके की होस्टिंग में कितनी भी वेबसाइट को ऐड कर सकते हैं और आपकी वेबसाइट पर कितना भी ट्रैफिक आए आपकी वेबसाइट कभी भी डाउन नहीं होगी और ना ही आप की वेबसाइट को कोई प्रेस कर पाएगा क्योंकि इस प्रकार की होस्टिंग में काफी सिक्योरिटी प्रोवाइड की जाती है वहीं इस प्रकार की होस्टिंग काफी महंगी आती है अगर आप न्यूज़ वेबसाइट या ई-कॉमर्स वेबसाइट बनाना चाहते हैं जिस पर हर दिन का 4 से 5 LAkH ट्राफिक आता है तो आपको क्लाउड होस्टिंग ही लेनी चाहिए

 

 

 

 

 

Leave a Comment